कृषि विज्ञान केंद्र द्वारा प्रसार कार्यकत्रियों के एक दिवसीय प्रशिक्षण का आयोजन

शरद गुप्ता

पीपीगंज, गोरखपुर।महायोगी गोरक्षनाथ क़ृषि विज्ञानं केंद्र,चौकमाफी, गोरखपुर द्वारा आज दिनांक 5 मार्च 2021 को प्रसार कार्यकत्रियों के एकदिवसीय प्रशिक्षण का आयोजन किया गया। इस कार्यक्रम के दौरान प्रसार कार्यकत्री के रूप मे आंगनवाड़ी कार्यकत्रियों को प्रशिक्षित किया गया। प्रशिक्षण की शुरुआत केंद्र के वरिष्ठ वैज्ञानिक एवं अध्यक्ष डॉ. संदीप कुमार सिंह द्वारा की गई इस दौरान उन्होंने सहभागियों को भोजन की उपयोगिता व पोषक तत्वों की कमी से होने वाले रोगों के बारे में बताया।

इसी क्रम में वैज्ञानिक डॉ. श्वेता सिंह ने पसुपोषण व कुपोषण के अंतर को बताते हुए अंकुरित अनाजो व दालो के महत्व की जानकारी दी साथ ही अंकुरित दाल एवं प्रोटीन युक्त अनाजो द्वारा कम लागत मे पूरक आहार तैयार करने की विधि भी बतायी। प्रश्नावली के माध्यम से प्रशिक्षार्थियों की पूर्व व पश्चात मूल्यांकन जांच भी किया गया जिससे जानकारी का मूल्यांकन किया गया तथा अंकुरण से सम्बंधित उनकी लगभग जिज्ञासा को भी पूरा किया गया।

इस कार्यक्रम मे केंद्र के उद्यान वैज्ञानिक डॉ अजीत कुमार श्रीवास्तव ने आंगनवाड़ी कार्यकर्तियों को अंकुरित दालो व अनाजो के महत्त्व के बारे मे बताते हुए अंकुरित अनाज के सेवन की विधि पर भी प्रकाश डाला, उन्होंने बताया कि अंकुरित दाले पोषक तत्वों का खजाना होती हैं इनमें अच्छी मात्रा में प्रोटीन पाया जाता है, अंकुरित दालों में विटामिन ए, बी, व सी होता है इनमें आयरन पोटेशियम, कैल्शियम, मैग्नीशियम, फास्फोरस व मैग्नीज भी होता है।

उन्होंने बताया की प्रोटीन की मदद से आयरन आसानी से शरीर में घुल जाता है और शरीर में हीमोग्लोबिन की मात्रा को बढ़ाता है। केंद्र के प्रसार वैज्ञानिक डॉ राहुल कुमार सिंह ने प्रशिक्षर्थियों को मानव आहार मे अनाजो एवं दालो के महत्त्व के बारे मे बताया इस अवसर पर केंद्र के वैज्ञानिक डॉ विवेक सिंह, डॉ. अवनीश सिँह, डॉ संदीप प्रकाश सिंह , प्रोग्रामर गौरव सिंह, आशीष सिंह, जीतेन्द्र सिंह मौजूद रहे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button