पांच साल में एक भी दंगा नहीं हुआ यूपी में

ओवैसी धर्मांतरण के खिलाफ कानून बनाए जाने के कारण योगी से खफा हैं - सिद्धार्थ नाथ सिंह

लखनऊ । कैबिनेट मंत्री एवं उत्तर प्रदेश सरकार के प्रवक्ता सिद्धार्थनाथ सिंह ने एआईएमआईएम के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी के उस बयान को हास्यास्पद करार दिया है जिसमें उन्होंने योगी आदित्यनाथ को दोबारा यूपी का सीएम न बनने देने का दम्भ भरा है। श्री सिंह ने एक बयान में कहा है कि ओवैसी और उनके जैसे सांप्रदायिकता और तुष्टिकरण की राजनीति करने वालों की हालत उत्तर प्रदेश में ‘खिसियानी बिल्ली खम्भा नोचे’ वाली है।

उन्होंने कहा कि योगी सरकार जबसे धर्मांतरण के खिलाफ कानून लाई है, ओवैसी और इनके चेलों की दाल गलती नजर नहीं आ रही है। बीते चार सालों में ‘सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास और तुष्टिकरण किसी का नहीं’ के मंत्र को फलीभूत किया है। ऐसे में ओवैसी या समाज में विभेद की राजनीति करने वाले अन्य राजनीतिज्ञ या राजनीतिक दलाल कोई भी चाल चलें, उत्तर प्रदेश में उनकी सियासी दाल नहीं गलने वाली। यूपी के वरिष्ठ मंत्री ने ओवैसी से पूछा है कि लव जेहाद के खिलाफ कानून लाने , माफिया और गुंडों के खिलाफ कार्रवाई करने और कानून का राज स्थापित करने के लिए वह आखिर योगी से नाराज़ क्यों हैं। उन्हें अमन क्यों नहीं पसंद है?

गौरतलब हो कि सुहलदेव भारतीय समाज पार्टी व अन्य कुछ छोटे दलों के साथ उत्तर प्रदेश में 2022 का विधान सभा चुनाव लड़ने की तैयारी में जुटे एआईएमआईएम प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने कहा था कि इंशाअल्लाह, 2022 में योगी आदित्यनाथ को यूपी का मुख्यमंत्री नहीं बनने देंगे। उनके इस बयान को योगी सरकार के प्रवक्ता एवं कैबिनेट मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह ने आड़े हाथों लिया है। श्री सिंह का कहना है कि योगी आदित्यनाथ के कार्यकाल की उपलब्धियों से ओवैसी जैसे लोगों की राजनीतिक छटपटाहट कोई भी आसानी से समझ सकता है।

योगी सरकार ने बीते चार साल से अधिक के अपने कार्यकाल में माफिया, अपराधियों, गुंडों को नेस्तनाबूद कर दिया है। भ्रष्टाचार के खिलाफ सीएम योगी की जीरो टॉलरेंस नीति पूरे देश मे अपनी धाक जमा चुकी है। इस कार्यकाल में उत्तर प्रदेश में एक भी साम्प्रदायिक दंगा नहीं हुआ है। अब जिन लोगों की राजनीति का आधार ही साम्प्रदायिक विभाजन, अपराधियों को प्रश्रय व भ्रष्टाचार का पोषण होगा, उन्हें तो योगी जी खटकेंगे ही। पर, राज्य की जनता अपराध मुक्त, दंगा मुक्त, भ्रष्टाचार मुक्त शासन की हिमायती है और योगी जी के कार्यकाल में उसे इन सभी तथ्यों के साथ बहुमुखी विकास दिखा है। आज उत्तर प्रदेश शानदार कानून व्यवस्था, पारदर्शी क्रियाप्रणाली और बेहतरीन ढांचागत सुविधाओं के चलते देश विदेश के निवेशकों की पहली पसंद बन गया है। ऐसे में ओवैसी हों या कोई अन्य योगी विरोधी राजनीतिज्ञ, उसके पास ‘मुंगेरी लाल के हसीन सपने’ देखने के अलावा कोई और काम नहीं है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button