तीन दर्जन से अधिक जिलों में कोरोना से एक भी मौत नहीं

मेरठ छोड़ किसी भी जिले में नहीं आए 100 से अधिक नए रोगी

कौशांबी में जीरो तो दर्जन भर जिलों में संक्रमण के मामले 5 से भी कम

24 अप्रैल को 38055 की रिकॉर्ड संख्या घटकर 1497 पर आई

सक्रिय मामलों में 88 फीसद की कमी

310786 से 37074 पर आए सक्रिय केसेज

गिरीश पांडेय

लखनऊ| कोरोना के हर फ्रंट से लगातार दो महीने से चौतरफा अच्छी खबरें हैं। तीन दर्जन से अधिक जिलों में कोरोना से किसी की भी मौत नहीं हुई। मेरठ को छोड़ 24 घंटे के दौरान किसी भी जिले से नए संक्रमण के मामले 100 से नीचे रहे। इस दौरान कौशांबी जीरो संक्रमण वाला जिला रहा। महोबा,कासगंज,हमीरपुर, चित्रकूट,कानपुर देहात,फतेहपुर,बांदा,औरैया, हाथरस, बांदा, बलिया और मैनपुरी आदि करीब दर्जन भर जिलों में नए संक्रमण के मामले 5 से कम रहे।

पीक से 96 फीसद नीचे आए नए संक्रमण के मामले

उपलब्ध आंकड़ों के मुताबिक पिछले 24 घंटों के दौरान संक्रमण के नए मामले पीक से करीब 96 फीसद से घट गए। 24 अप्रैल को 24 घंटे में आए थे रिकॉर्ड 38055 केस। आज यह घटकर डेढ़ हजार के नीचे 1497 पर पहुंची। सक्रिय केस घटकर 37044 पर आए। 30 अप्रैल को आए रिकॉर्ड केसेज 310783 की तुलना में यह 88 फीसद कम है। रिकवरी रेट सुधरकर 96.6 फीसद हो गई।

यह सब यूं ही नहीं हो गया। इसके लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने टीम 11 की जगह टीम 9 के नाम से नई टीम गठित की। कोरोना के लिहाज से महत्वपूर्ण जिम्मेदारियों (ऑक्सीजन की उपलब्धता, हॉस्पिटल्स में बेड और दवाओं की उपलब्धता)को विकेंद्रित करते हुए टीम के लोगों को जवाबदेह बनाया। प्रभारी मंत्रियों को उनके प्रभार वाले जिलों में भेजा। हर जिले की निगरानी की वरिष्ठ अधिकारियों को नोडल अधिकारी बनाकर वहां भेजा गया। खुद की सेहत की चिंता किए बगैर इन सारी व्यस्थाओ का भौतिक सत्यापन करने मुख्यमंत्री एक कप्तान की तरह पिछले कई दिनों से ग्राउंड जीरो पर हैं।

इन समन्वित प्रयासों का नतीजा भी सबके सामने। इन नतीजों के नाते ही आज देश दुनिया विश्व स्वास्थ्य संगठन, नीति आयोग, मुंबई और इलाहाबाद योगी के कोविड प्रबंधन की तारीफ कर रही है। मालूम हो कि मध्य अप्रैल से मई के पहले हफ्ते के दौरान जब कोरोना के संक्रमण की दूसरी लहर चरम पर थी तो हर कोई कोरोना से डरा था। मीडिया के हर प्लेटफार्म पर सिर्फ कोरोना से जुड़ी खबरें ही सुर्खियां बनती थीं। उसी दौरान एक दिन के संक्रमण, सक्रिय रोगियों की संख्या और एक दिन में सर्वाधिक मौतों का भी रिकॉर्ड बना, पर योगी सरकार ने पहले चरण की तुलना में 30 से 50 फीसद संक्रामक दूसरे दौर का डटकर मुकाबला किया। आज दो महीने से कम समय में कोरोना के हर फ्रंट से अच्छी खबरें हैं।

सर्वाधिक संक्रमण वाले जिले

मेरठ 105
लखनऊ 84
सहारनपुर 78
गोरखपुर 73
नोएडा 68

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button