डिजिटल डेमोक्रेसी का माध्यम है माईगव: अश्विनी वैष्णव

"माईगव" के मंच पर हाजिर हुई यूपी सरकार .यूपी सरकार की नीतियों, कार्यक्रमों, सेवाओं से सीधे जुड़ने के लिए मिलेगा बेहतरीन मंच . केंद्रीय आईटी मंत्री अश्विनी और सीएम योगी ने किया https://up.mygov.in/ का शुभारंभ . पीएम मोदी की अभिनव पहल के सात साल हुए पूरे . नागरिक-सरकार सहभागिता का शानदार प्लेटफॉर्म है "माई गव" . समूह, कार्यों, जनमत, ब्लॉग और विशेष चर्चाओं में भी ले सकेंगे भाग, दे सकेंगे राय .

लखनऊ : उत्तर प्रदेश सरकार अब सरकार-नागरिक सहभागिता के राष्ट्रीय मंच “माईगव” पर उपलब्ध हो गई है। योगी सरकार की इस अभिनव प्रयास के बाद अब सरकारी नीति तय करने में रायशुमारी करनी हो या फिर जनहित के कार्यक्रमों का फ़ीडबैक, युवाओं के इनोवेटिव आइडिया लेना हो अथवा किसी मुद्दे पर चर्चा-विमर्श, यूपी में इन विषयों के लिए लोगों के पास एक और मंच उपलब्ध हो गया है। सोमवार को केंद्रीय संचार एवं इलेक्ट्रॉनिक्स मंत्री अश्विनी वैष्णव और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्लेटफार्म https://up.mygov.in/ का शुभारंभ किया।

इस मौके पर मुख्यमंत्री ने कहा कि लोकतंत्र जनता का, जनता के लिए और जनता द्वारा संचालित शासन की एक व्यवस्था है। 2014 के पहले सरकार में जनभागीदारी नगण्य थी। आमजन की भावनाओं, विचारों के लिए कोई स्थान नहीं था। लेकिन 2014 में नरेंद्र मोदी सरकार बनने के मात्र दो माह के भीतर जुलाई में एक नवीन प्रयास करते हुए माईगव प्लेटफार्म की शुरुआत की गई। प्रधानमंत्री ने तकनीक के माध्यम से लोकतंत्र की जिन भावनाओं को साकार रूप प्रदान करने के लिए जिस कार्य का शुभारंभ किया था, आज सात वर्ष में उसने सुशासन के लक्ष्य को प्राप्त करने में बहुत बड़ी भूमिका का निर्वहन किया है।

माईगव की टीम की प्रशंसा करते हुए सीएम ने कहा कि कोरोना कालखंड में हम लोगों ने तकनीक के उपयोग को महसूस किया कि कैसे एक साथ करोड़ों लोगों तक पूरी पारदर्शिता और ईमानदारी से शासन की योजनाओं का लाभ पहुंचा सकते हैं। 80 हजार से अधिक फेयर प्राइस शॉप में ई-पॉश मशीन लगाकर उसे सरकार के पोर्टल से जोड़ा। आज 15 करोड़ से अधिक लोगों को पब्लिक डिस्ट्रीब्यूशन सिस्टम का लाभ दे रहे हैं। पहले से अधिक मात्रा में लोगों को खाद्यान्न वितरित हो रहा है और हर इसके माध्यम से ₹1,200 करोड़ तक की बचत भी कर रही है। यह बताता है कि तकनीक के माध्यम से योजनाओं को विश्वसनीय बनाया जा सकता है, भ्रष्टाचार पर रोक लग सकती है।

सीएम योगी ने माईगव मंच के माध्यम से युवाओं के इनोवेटिव विचारों को प्रोत्साहन देने, नीतियों पर चर्चा करने आदि विषयों के अच्छे परिणाम की सराहना करते हुए उत्तर प्रदेश सरकार के इस मंच से जुड़ने को प्रदेशवासियों के लिए उपयोगी बताया। कार्यक्रम में केंद्रीय संचार एवं इलेक्ट्रॉनिक्स मंत्री अश्विनी वैष्णव ने कहा कि माईगव डिजिटल डेमोक्रेसी की दिशा में एक कदम है। बीते सात वर्षों में इस प्लेटफार्म ने जनता के विचारों को सरकार की नीतियों का आधार बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। आज इसके सात वर्ष पूर्ण हो रहे हैं, ऐसे खास मौके पर देश के सबसे बड़े राज्य उत्तर प्रदेश का इस मंच पर आगमन होना, इसकी सफलता को और विस्तार देने वाला होगा।

इससे पहले, माईगव के सीईओ अभिषेक सिंह ने माईगव के सात वर्षों के सफर का संक्षिप्त विवरण प्रस्तुत किया और 15वें राज्य के रूप में उत्तर प्रदेश के शामिल होने पर राज्य सरकार के प्रति आभार जताया। वर्चुअल माध्यम से सम्पन्न इस कार्यक्रम में उत्तर प्रदेश सरकार के अपर मुख्य सचिव सूचना नवनीत सहगल ने आभार ज्ञापन किया।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button