यूपी में बढ़ा निवेश, 35 लाख युवाओं को मिला रोजगार

रिफॉर्म, परफॉर्म और ट्रांसफॉर्म के जरिए ईज ऑफ डूइंग बिजनेस में यूपी बेमिसाल। निवेश मित्र पोर्टल पर तीन लाख को दी गई एनओसी। कोरोना कॉल में हुआ 56 हजार करोड़ रुपए का निवेश। आइकिया, सैमसंग समेत कई कंपनियों ने यूपी में रखा कदम।

लखनऊ। उत्‍तर प्रदेश को औद्योगिक विकास का हब बनाने में पिछले चार साल में योगी सरकार ने कमाल कर दिया है। चार साल पहले तक जिस यूपी में निवेश करने में उद्यमी घबराते थे। योगी सरकार ने उस यूपी का रिफॉर्म, परफॉर्म व ट्रांसफॉर्म करके दिखा दिया है। इससे निवेशक बड़ी संख्‍या में यूपी में निवेश करने के लिए आगे आ रहे हैं। निवेशकों दी गई सहूलियत और निवेश मित्र पोर्टल के जरिए ऑनलाइन नए उद्यमों लाइसेंस देने की प्रक्रिया ने ईज ऑफ डूइंग बिजनेस में यूपी चार साल में 2 दूसरे नम्‍बर पर पहुंच गया है। यूपी में चार साल में 3 लाख से अधिक एनओसी प्रदान कर इतिहास रचा है।

उप्र औद्योगिक निवेश एवं रोजगार प्रोत्साहन नीति 2017 लागू की गई । निवेश फ्रेण्डली सेक्टरवार 21 नई नीतियां बनाईं गई। निवेश मित्र पोर्टल की स्थापना हुई। निवेशकों को यूपी में लाने के लिए इसमें 227 सेवाएं शुरू की गई। सरकार ने 72 घंटे नए उद्यमों को विभिन्न लाइसेंस स्वीकृतियां प्रदान करने की सुविधा शुरू की गई है। इसके लिए स्थान 1,000 दिवसों तक उद्यम को निरीक्षण से मुक्त किया गया। सरकार की आकर्षक निवेश नीतियों के कारण कोरोना काल में ही 56,000 करोड़ रुपए के निवेश प्रस्ताव प्राप्त हुए। निवेश मित्र पोर्टल के जरिए 300881 एनओसी दी गई। महज 7564 आवेदन ही पोर्टल पर पेंडिंग हैं।

35 लाख युवाओं को मिला रोजगार

ईज ऑफ डूइंग बिजनेस में चार साल पहले यूपी 16 व 17 वें स्‍थान पर 2017 में प्रदेश में योगी सरकार बनने के बाद निवेश की राहें खुली। निवशों की समस्‍याओं का समाधान और उनको बेहतर सहूलियतें देने के लिए निवेश मित्र पोर्टल बनाया गया। इस पर आवेदन से लेकर एनओसी तक की पूरी प्रक्रिया को ऑनलाइन किया गया। इनवेस्‍ट यूपी के तहत हेल्‍प डेस्‍क का गठन किया गया। नतीजा सैमसंग, आइकिया समेत रक्षा से जुड़ी कई कंपनियों ने यूपी में निवेश किया। इससे प्रदेश के 35 लाख युवाओं को रोजगार के अवसर उपलब्‍ध हुए।

डेटा सेंटर में 6 हजार करोड़ का निवेश

यूपी की निवेश‍ नीतियों के चलते इलेक्ट्रिानिक उत्‍पाद बनाने वाली नामचीन कंपनी सैमसंग ने अपना सयंत्र चीन से हटा कर जनपद गौतमबुद्धनगर में स्‍थापित करने जा रहा है। फर्नीचर व हाउस होल्ड में दुनिया की प्रख्यात कम्पनी आइकिया जनपद गौतमबुद्धनगर में 5,500 करोड़ रुपए का निवेश करने जा रही है। इसके अलावा यहां डेटा सेंटर पार्क की स्थापना में 6,000 करोड़ रुपए का निवेश हो रहा है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button