सदर तहसील दिवस में चौदह फरियादी आये दो का निस्तारण

123 दिन बाद संपूर्ण समाधान दिवस पुनः प्रारंभ

  • शरद गुप्ता

गोरखपुर : सदर तहसील में आए हुए फरियादियों की समस्याओं को एडीएम सिटी की अध्यक्षता में सुनी फरियाद संबंधित अधिकारियों व कर्मचारियों को निराकरण करने के लिए दिया आवश्यक दिशा निर्देश। संपूर्ण समाधान तहसील दिवस कोरोना संक्रमण के बढ़ते प्रकोप के कारण प्रदेश सरकार ने जनता की सुरक्षा के दृष्टिगत 16 मार्च के बाद तहसील दिवस बंद कर दिया गया था आज शनिवार 17 जुलाई को 123 दिन बाद मुख्यमंत्री के निर्देश पर पुनःतहसील दिवस प्रारंभ किया गया।

पालले तहसील दिवस महीने के पहले व तीसरे मंगलवार को सुना जाता था लेकिन अब मुख्यमंत्री के निर्देश पर महीने के पहले व तीसरे शनिवार को सुना जाएगा। सदर तहसील सम्पूर्ण समाधान दिवस में फरियादी अपनी अपनी समस्याओं के समाधान के लिए पहुंच कर संबंधित अधिकारियों के पास अपनी पीड़ा बताकर समाधान कराया । सदर तहसील समाधन दिवस वीर बहादुर सिंह स्पोर्ट कॉलेज के कुश्ती हाल में कोरोना प्रोटोकॉल का पूर्ण रुप से पालन करते हुए आए हुए फरियादियों की समस्याओं का समाधान किया गया वैसे तो समाधान दिवस में फरियादियों की संख्या बरसात के कारण कम रहा , लेकिन अधिकारी व कर्मचारी अपने अपने कर्तव्यों का निर्वहन करते हुए आए हुए फरियादियों की समस्याओं को सुन संबंधित को निराकरण करने का निर्देश दिया ।

आज अपनी समस्याओं का समाधान कराने के लिए स्पोर्ट्स कॉलेज में अनिल कुमार गुप्ता निवासी तालकोयला थाना पीपीगंज ने तहसील दिवस में बताया कि कुछ भू माफियाओं द्वारा हमारी पुश्तैनी जमीन को कब्जा किया जा रहा है अधिकारियों को तत्काल मौके पर जाकर संबंधित लेखपाल व उप निरीक्षक मौके मुहाना करते हुए निराकरण करने का निर्देश दिया गया नसीम अहमद निवासी शाहपुर जिंदापुर ने अपनी पीड़ा बताते हुए बताया कि थाने का चक्कर लगाते लगाते परेशान हो गए हैं लेकिन हमारे विपक्षियों के ऊपर मुकदमा दर्ज नहीं किया जा रहा है , थाना प्रभारी को तत्काल निर्देश दिया गया कि उक्त मामले की जांच करते हुए मुकदमा पंजीकृत किया जाए ।

प्रेमा देवी पत्नी स्वर्गीय कैलाश प्रसाद निवासी हिमायूपुर थाना गोरखनाथ के पति चुनाव के दौरान मृत्यु हो गई थी जिन्हें सरकार द्वारा प्रदत मुवायजे की जानकारी देते हुए मुवायजे की संतृप्ति की गई प्रेमा देवी का गोरखनाथ रोड चौड़ीकरण के जद में आने के कारण मकान को ध्वस्त कर दिया गया था जमीन का मुआवजा प्रदान कर दिया गया था लेकिन मकान का मुआवजा प्रदान नहीं किया गया था उसके लिए भी शासन द्वारा निर्गत धनराशि को अवमुक्त करने का संतृप्ति तहसील दिवस में दी गई ।

तहसील दिवस में आज हो रहे मूसलाधार बारिश के बीच वीर बहादुर सिंह स्पोर्ट कॉलेज के कुश्ती हाल में 14 फरियादी अपनी समस्याओं को लेकर आये दो का निस्तारण किया गया बचे मामलों का मौकेमुआयना करते हुए निस्तारित करने का लेखपाल व संबंधित अधिकारियों को निर्देशित किया गया आज तहसील दिवस 10 राजस्व 3 पुलिस 1 विजली के आए हुए थे ज्यादातर मामलों जमीनी विवाद का रहा। तहसील दिवस में प्रमुख रूप से एसडीएम सदर /अपर उप जिलाधिकारी सदर अरुण मिश्रा ज्वाइन्ट मजिस्ट्रेट सुमित महाजन क्षेत्राधिकारी गोरखनाथ रत्नेश सिंह अंडर ट्रेनिग पीसीएस रजत वर्मा तहसीलदार सदर डॉ संजीव दिक्षित तहसीलदार न्यायिक सुनीता गुप्ता नायब तहसीलदार वशिष्ठ वर्मा सहित संबंधित विभागों के अधिकारी व कर्मचारी तहसील दिवस में मौजूद रहे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button