डीएम ने भाजपा प्रत्याशी साधना सिंह को दिया जीत का प्रमाण पत्र

  • शरद गुप्ता

गोरखपुर। पंचायती राज व्यवस्था लागू होने के बाद से गोरखपुर की जिला पंचायत अध्यक्ष की कमान आधी आबादी (महिला) के ही हाथ में रही है। यह इतिहास इस बार भी बरकरार रहा। साधना सिंह का निर्विरोध निर्वाचन हो गया है। गोरखपुर के डीएम के विजयेंद्र पांडियन ने उन्हें जीत का प्रमाण दे दिया । बता दें कि कलेक्ट्रेट स्थित डीएम कोर्ट में नाम वापसी का समय खत्म होते ही रिटर्निंग ऑफिसर (आरओ) के. विजयेंद्र पांडियन उन्हें निर्विरोध निर्वाचन का प्रमाण पत्र दे दिया।

नामांकन वाले दिन 26 जून को ही सिर्फ भाजपा प्रत्याशी साधना सिंह और संगीता पासवान ने ही पर्चा भरा था। संगीता पासवान का पर्चा उसी दिन प्रस्तावक न रहने के कारण खारिज कर दिया गया था केवल औपचारिक घोषणा बाकी रह गई थी जिसे आज जिलाधिकारी के विजयेंद्र पांडियन ने प्रमाण पत्र देते हुए साधना सिंह को जिला पंचायत अध्यक्ष की औपचारिक घोषणा की। इससे पहलेअब तक की महिला जिला पंचायत अध्यक्ष शोभा साहनी-भाजपा 1995 से 2000 सुभावती पासवान-सपा 2000 से 2005 चिंता यादव-सपा 2005-2010 साधना सिंह-बसपा 2010 से 2015 गीतांजलि यादव- सपा 2015 से 2020 साधना सिंह- भाजपा 2021 से 2026 जिला पंचायत अध्यक्ष की कुर्सी पर विराजमान रहेंगी।

बता दें कि गोरखपुर जिला पंचायत अध्यक्ष की सीट इस बार सामान्य हुई थी। अंदाजा लगाया जा रहा था कि इस बार किसी पुरुष को जिला पंचायत अध्यक्ष बनने का मौका मिलेगा, लेकिन साधना सिंह के चुनाव लड़ने की बात सामने आते ही इस कयास पर विराम लग गया। तय हो गया था कि छठवीं बार भी जिला पंचायत अध्यक्ष की कमान आधी आबादी के हाथ में ही रहने वाली है। हुआ वही आरओ जिला अधिकारी के विजयेंद्र पांडियन ने सारी औपचारिकताएं पूर्ण करते हुए जिला पंचायत अध्यक्ष साधना सिंह को प्रमाण पत्र देते हुए बधाई दी वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक दिनेश कुमार पी के निर्देशन पर पुलिस अधीक्षक नगर सोनम कुमार ने सुरक्षा व्यवस्था चाक-चौबंद कर रखी थी कलेक्ट्रेट परिसर चारों तरफ छावनी में तब्दील रही जिसका नतीजा रहा कि सारे कार्यक्रम औपचारिकताएं पूर्ण करते हुए शांति पूर्ण हो गया इस दौरान एडीएम वित्त राजेश कुमार सिंह व नवनिर्वाचित जिला पंचायत अध्यक्ष साधना सिंह के समर्थक मौजूद रहे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button