रेमडेसिविर इंजेक्शन की कालाबाजारी करने के आरोप में 02 अभियुक्त गिरफ्तार

शरद गुप्ता

गोरखपुर। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक, जनपद गोरखपुर द्वारा कोविड- 19 वायरस के संक्रमण/कोरोना महामारी को दृष्टिगत रखते हुए पीड़ित व्यक्तियो तक समय से इलाज व दवा उपलब्ध कराये जाने के उद्देश्य से औषधि निरीक्षक व जनपदीय पुलिस की संयुक्त टीम गठित कर प्रभावी रुप से निगरानी हेतु निर्देश दिये गये है । इसी क्रम में मंगलवार को रेमडेसिविर इंजेक्शन की कालाबाजारी की सूचना प्राप्त होने पर उसे गम्भीरता से लेते हुए पुलिस अधीक्षक नगर के पर्यवेक्षण में व क्षेत्राधिकारी गोरखनाथ / क्राइम के निर्देशन में तथा औषधि निरीक्षक व गोरखनाथ पुलिस की संयुक्त टीम द्वारा मुखबिर की सूचना पर दो व्यक्तियों को धर्मशाला ओवर ब्रिज के नीचे 02 वायल रेमडेसिविर इन्जेक्शन भरा हुआ व 01 वायल खाली रेमडेसिविर इन्जेक्शन के साथ गिरफ्तार किया गया । रेमडेसिविर इंजेक्शन को निर्धारित मूल्य 1299/- रुपये ( अधिकतम खुदरा मूल्य ) के बजाय 9000/- रुपये प्रति वायल में बेचा जाता था ।

पुलिस द्वारा गिरफ्तार किये गये अभियुक्तों का नाम संजीत कुमार गुप्ता पुत्र कैलाश गुप्ता निवासी चन्द्रपुर खास थाना रामकोला जनपद कुशीनगर एवं दीपक चौरसिया पुत्र स्व0 राघव चौरसिया निवासी ग्राम धस्की कौड़ीराम थाना बाँसगाँव जनपद गोरखपुर है।
जानकारी के मुताबिक गिरफ्तार अभियुक्तगण पी0सी0 हास्पिटल धर्मपुर चौराहा शाहपुर गोरखपुर में स्टाप नर्स के पद पर नौकरी करते थे वही से मरीजो के परिजन रेमडेसिविर इंजेक्शन लगाने हेतु डाक्टर के सलाह पर लाते थे जिसे डाक्टर मरीज को इंजेक्शन न लगाकर उसे कालाबाजारी कर ऊंचे दामों पर बेचते है ।  गिरफ्तार अभियुक्तों पर मु0अ0सं0- 140/2021 धारा 409,420 भादवि थाना गोरखनाथ में मुकदमा दर्ज कराया गया। गिरफ्तार करने वाले पुलिस कर्मी मे जय सिंह औषधि निरीक्षक गोरखपुर, मोहन तिवारी औषधि अनुसेवक गोरखपुर, का0 विक्रम सिंह थाना गोरखनाथ गोरखपुर शामिल रहे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button