उ.प्र. को सर्वोत्तम बनाने के लिए मुंबई में उद्योगपतियों से मिलेंगे योगी

बालीउड की नामचीन हस्तियों से होगी प्रस्तावित फिल्म सिटी पर चर्चा 

गिरीश पांडेय

लखनऊ : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ दो दिसंबर को देश की आर्थिक राजधानी और मायानगरी मुंबई में होंगे। यूं तो मुख्यमंत्री बनने के बाद उनका कई बार मुंबई जाना हुआ, पर यह दूसरा मौका होगा जब वे देश के दिग्गज उद्योगपतियों और बॉलीवुड की नामचीन हस्तियों से मिलेंगे। इससे पहले इस मकसद से मार्च-2017 में उत्तर प्रदेश की सत्ता संभालने के बाद दिसंबर 2017 में वह उप्र इन्वेस्टर्स समिट में संबंधित लोगों से मिलने और आमंत्रित करने मुंबई गये थे।

दो दिसंबर को बीएसई में लखनऊ नगर निगम के म्यूनिसपल बांड की करेंगे लांचिंग , ऐसा करने वाला उत्तर भारत का पहला नगर निकाय बना .

दरअसल मुख्यमंत्री की पहल पर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में इन्वेस्टर्स समिट होना था। उसके पहले देश के प्रमुख महानगरों में सेक्टर्स को फोकस करते हुए रोड शो हुए थे। मुंबई के रोडशो में योगी खुद गये थे। उस समय उनसे मुकेश अंबानी, रतन टाटा,आनंद महिंन्द्रा समेत आदि से उनकी मुलाकात हुई थी। फरवरी 2018 में लखनऊ में आयोजित इन्वेस्टर्स समिट में भी इनमें से अधिकांश आए थे। उस दौरान करीब चार लाख 52 हजार करोड़ रुपये के मेमोरंडम ऑफ अंडरस्टैंडिंग एमओयू पर दस्तखत हुए थे। इसके बाद हुए दो बार के ग्राउंड ब्रेकिंग सेरमोनी के दौरान अब तक दो लाख  करोड़ रुपए के निवेश धरातल पर उतारे जा चुके हैं। यह प्रकिया लगातर जारी है।

योगी की अगुआई में तेजी से हो रहा बदलाव उप्र

तबसे अब तक उप्र में कानून व्यवस्था, बुनियादी ढांचा,एयर कनेक्टिविटी के लिहाज से बहुत कुछ बदल चुका है। नोएडा में देश की सबसे बेतरीन फ़िल्म सिटी एवं फाइनेंस सिटी, जेवर में एशिया का सबसे बड़ा ग्रीन फील्ड एयरपोर्ट, डिफेंस कॉरिडोर,पूर्वांचल, बुंदेलखंड और गंगा एक्सप्रेसवे, अलग-अलग महानगरों में मेट्रो का विस्तार, अयोध्या में भगवान श्रीराम का भव्य मंदिर बनने और अयोध्या के कायाकल्प के साथ आने वाले वर्षों में प्रदेश में बहुत कुछ बदल जाएगा।

निवेशकों को भाने लगा उप्र कोरोना में भी जारी रही तरक्की की रफ्तार

इन तमाम प्रयासों के साथ निवेश की प्रक्रिया को पारदर्शी बनाने के लिए सिंगल विंडो सिस्टम का नतीजा भी दिखने लगा है। कुछ महीने पहले जारी ईज ऑफ डूइंग बिजनेस में उप्र 10 अंकों की छलांग के साथ देश में दूसरे नंबर पर आ गया। वैश्विक महामारी कोरोना के दौरान भी प्रदेश सरकार की इन्वेस्टर्स फ्रेंडली नीतियों के नाते देश-विदेश की 52 कंपनियों ने उप्र में 45 हजार करोड़ रुपए के निवेश में रुचि दिखाई। यही नहीं इस दौरान बैंकों से समन्वय कर 6 लाख 46 हजार सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योगों को 20 हजार करोड़ रुपए का ऋण देकर चलवाया गया। लॉक डाउन के नाते करीब 45 लाख श्रमिकों की दूसरे प्रदेशों से वापसी हुई। सरकार ने न केवल सबकी सुरक्षित और ससम्मान वापसी सुनिश्चित कराई, बल्कि इनको राशन किट और भरण पोषण भत्ते के रूप एक हजार रुपये भी दिया। इनमें से करीब 25 लाख लोगों को उनकी दक्षता के अनुसार स्थानीय स्तर पर रोजगार भी मुहैया कराया गया। स्वाभाविक है कि मुख्यमंत्री उद्योग और फिल्म जगत की नामचीन हस्तियों से मुलाकात के दौरान इन मुद्दों पर चर्चा करेंगे। साथ ही उनसे उत्तरप्रदेश को हर लिहाज से देश का सर्वोत्तम प्रदेश बनाने के लिए अलग अलग सेक्टर्स में और निवेश के लिए भी आमंत्रित करेंगे।

बैंकर्स से मुलाकात में तय होगी फाइनेंस सिटी की रूपरेखा

मुख्यमंत्री 1 दिसंबर को मुंबई पहुंच जाएंगे। दो दिसंबर को सुबह वह मुंबई स्टॉक एक्सचेंज में लखनऊ नगर निगम के बॉन्ड को प्रतीकात्मक रूप से लांच करेंगे। मालूम हो कि हाल ही में लखनऊ नगर निगम ने प्रदेश की राजधानी को हर लिहाज विकास, सौंदर्यीकरण और साफ-सफाई आदि से स्मार्ट बनाने के लिए 200 करोड़ का बॉन्ड जारी किया था। कोविड काल में भी सरकार पर भरोसा कर निवेशकों ने इसे हाथों हाथ लिया। नतीजन यह 225 फीसदी से अधिक सब्सक्राइब हुआ है। इस तरह का बांड जारी करने वाला लखनऊ उत्तर भारत का पहला नगर निगम है। इससे उत्साहित सरकार आने वाले समय में सरकार गाजियाबाद, वाराणसी, कानपुर और आगरा जैसे बड़े नगर निकायों का बांड भी जारी करेगी। मुख्यमंत्री इसके बाद नरीमन प्वाइंट स्थित होटल ट्राइडेंट में देश के दिग्ग्ज उद्योगपतियों, बालीउड की नमाचीन हस्तियों और बडे़ बैंकर्स से मुलाकात करेगें। इन मुलाकातों में प्रदेश में निवेश, प्रस्तावित फिल्म और फाइनेंस सिटी पर चर्चा होगी।

इन दिग्गजों से होगी मुख्यमंत्री की मुलाकात

एन चंद्राशेखरन चेयरमैन टाटा सन्‍स, डॉ निरंजन हीरानंदानी चेयरमैन हीरानंदानी ग्रुप,एसएन सुब्रमणयम, चेयरमैन एलएंडटी
संजय नायर चेयरमैन केकेआर इंडिया एडवाइजर्स,सुप्रकाश चौधरी सीईओ सिमंस इंडस्‍ट्री, बाबा कल्‍यानी, चेयरमैन भारत फोर्ज लिमिटेड, जसपाल बिंद्रा, चेयरमैन सेंट्रम कैपिटल लिमिटेड अमित नायर, वाइस प्रेसीडेंट वन 97 कम्‍यूनिकेशन्‍स, विकास जैन एके कैपिटल सर्विसेज, वरूण कौशिक एसोसिएट डायरेक्‍टर एके कैपिटल सर्विसेज के अलावा डिफेंस सेक्टर के नामी उद्यमी एसपी शुक्‍ल चेयरमैन एफआईसीसीआई डिफेंस एंड एरोस्‍पेस कमेटी, सुकरन सिंह, सीईओ व एमडी टाटा एडवांस सिस्‍टम, सुशील कुमार एवीपी व हेड गर्वनमेंट इनोवेशन एंड स्किल डेवलपमेंट टाटा टेक्‍नोलॉजी,हर्षवर्धन गुने हेड डिफेंस टाटा टेक्‍नोलॉजी, अशोक वाधवान चेयरमैन पीएलआर सिस्‍टम प्राइवेट लिमिटेड, टीएस दरबारी, सीईओ व एमडी टैक्‍समैको डिफेंस सिस्‍टम, आशीष राजवंश हेड डिफेंस अडानी डिफेंस, रजत गुप्‍ता, हेड डिफेंस बिजनेस अशोक लेलैंड, कर्नल आरएस भाटिया (रिटायर्ड), प्रेसीडेंट डिफेंस भारत फोर्ब, जेडी पाटिल होल टाइम डायरेक्‍टर व मेम्‍बर ऑफ बोर्ड एल एंड टी, विजय सुजान, सीईओ जेएनवी वेनचर्स इंडिया। फिल्‍म जगत से आनंद पंडित, मनमोहन शेट्टी, बोनी कपूर और सुभाष घई आदि ।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button