महाराज का विराट व्यक्तित्व आज भी हमारे लिए प्रेरणास्रोत हैं-योगी कमलनाथ

युगपुरुष ब्रह्मलीन महन्त दिग्विजयनाथ जी महाराज की 51वीं एवं राष्ट्रसन्त ब्रह्मलीन महन्त अवेद्यनाथ जी महाराज की 6वीं पुण्यतिथि साप्ताहिक पुण्यतिथि समारोह - 30 अगस्त से 06 सितम्बर तक 

गोरखपुर । श्रीगोरक्षपीठ की गौरवशाली आध्यात्मिक-धार्मिक परम्परा को एक नई दिशा प्रदान करने वाले महान देशभक्त, अपराजेय धर्मयोद्धा, हिन्दुत्वनिष्ठ-राष्ट्रवादी राजनीति के वाहक, प्रातः स्मरणीय युगपुरूष ब्रह्मलीन महन्त दिग्विजयनाथ जी महाराज एवं राष्ट्रसंत ब्रह्मलीन महन्त अवेद्यनाथ जी महाराज का विराट व्यक्तित्व आज भी हमारे लिए प्रेरणास्रोत हैं। दोनो महन्त जी महाराज राष्ट्रवादी चरित्र एवं आध्यात्मिक चेतना से प्रदीप्त ऐसे सन्त थे जो अतीत, अनागत और वर्तमान सबको प्रत्यक्षवत् देखते थे। हिन्दू समाज के रक्षक थे। सांस्कृतिक राष्ट्रवाद के प्रबल समर्थक थे। उनकी स्मृतियाँ हमें अनवरत नयी ऊर्जा देती है। युगपुरूष ब्रह्मलीन महन्त दिग्विजयनाथ जी महाराज की इक्यानवीं एवं राष्ट्रसंत ब्रह्मलीन महन्त अवेद्यनाथ जी महाराज की 6ठवीं पुण्यतिथि के अवसर पर उनकी पावन स्मृति में सप्तदिवसीय श्रद्धांजलि समारोह 31 अगस्त से 06 सितम्बर, 2020 तक श्री गोरक्षनाथ मन्दिर में सम्पन्न होगा। साप्ताहिक श्रद्धांजलि समारोह के अन्तर्गत कल से साप्ताहिक ‘श्रीराम कथा ज्ञान-यज्ञ’ प्रारम्भ हो रही है। उक्त बातें श्री गोरक्षनाथ मन्दिर के प्रधान पुजारी योगी कमलनाथ  ने आज सप्तदिवसीय श्रद्धांजलि समारोह के सम्बन्ध में कही।

ब्रह्मलीन महन्त दिग्विजयनाथ जी

उन्होंने कहा कि युगपुरूष ब्रह्मलीन महन्त दिग्विजयनाथ जी महाराज एवं राष्ट्रसंत ब्रह्मलीन महन्त अवेद्यनाथ जी महाराज ने धर्म, संस्कृति, शिक्षा, समाज एवं राष्ट्र के प्रायः सभी महत्वपूर्ण क्षेत्रों में बहुआयामी एवं लोक संग्रही व्यक्तित्व से अपनी प्रभावशाली उपस्थिति दर्ज की थी। अनेक महत्वपूर्ण धार्मिक-आध्यात्मिक एवं राष्ट्रीय मुद्दों पर सड़क से संसद तक दोनो महन्त जी महाराज की ओजपूर्ण वाणी गूंजती रहती थी। 1920 से लेकर इक्वीसवीं शताब्दी के प्रथम दशक तक देश की कोई भी राजनैतिक, सामाजिक, धार्मिक समस्या ऐसी नहीं थी जिस पर क्रमशः दोनो ब्रह्मलीन महाराज जी की प्रभावपूर्ण उपस्थिति दर्ज न हुई हो। देश में वे आध्यात्मिक-सामाजिक पुनर्जागरण के अग्रदूत के रूप में प्रतिष्ठित हुये तो पूर्वी उत्तर प्रदेश में शैक्षिक पुनर्जागरण के अग्रदूत बनकर उभरे।

युगपुरूष ब्रह्मलीन महन्त दिग्विजयनाथ जी महाराज एवं राष्ट्रसंत ब्रह्मलीन महन्त अवेद्यनाथ जी महाराज यद्यपि अपने पार्थिव रूप में आज हमारे बीच नहीं हंै तथापि उनका कृतित्व आज भी प्रकाश स्तम्भ की तरह राष्ट्र-जीवन के राजपथ पर हमारे मार्गदर्शन के लिए विद्यमान है। दोनो ब्रह्मलीन महन्त जी महाराज भारत के राष्ट्रीय जीवन की मुख्यधारा का प्रतिनिधित्व करने वाली हिन्दू जीवन पद्धति से अनुप्रेरित समाज को एक समरस, सुघटित और सुदृढ़ समाज के रूप में देखना चाहते थे। उनके सपनों के समर्थ भारत के पुनर्निर्माण एवं हिन्दू समाज के पुनर्जागरण हेतु हम भी उनकी 2 पुण्यतिथि के अवसर पर प्रतिवर्ष समारोहपूर्वक आयोजन के माध्यम से प्रेरणा ग्रहण करते हैं और महत्वपूर्ण राष्ट्रीय एवं सामाजिक मुद्दों पर ब्रह्मलीन दोनों महन्त जी महाराज के कृतित्व एवं व्यक्तित्व के आलोक में समाज में जन-जागरण करते हैं। प्रतिवर्ष की भांति इस वर्ष भी 31 अगस्त से 06 सितम्बर, 2020 तक सप्तदिवसीय श्रद्धांजलि समारोह आयोजन किया जा रहा है।

ब्रह्मलीन महंत अवेद्यनाथ जी महाराज

योगी कमलनाथ  ने आगे बताया कि साप्ताहिक श्रद्धांजलि समारोह के अन्तर्गत समसामायिक विषयों पर चलनें वाला सम्मेलन 31 अगस्त से प्रारम्भ होगा। 31 अगस्त को उद्घाटन समारोह में ‘श्रीराम जन्मभूमि मन्दिर निर्माण का शुभारम्भ: भारत में एक नए युग का आरम्भ’’, 01 सितम्बर को ’स्वच्छ भारत अभियान एवं हमारा स्वास्थ्य’, 02 सितम्बर को ‘सामाजिक समरसता एवं सन्त समाज’, 03 सितम्बर को ‘संस्कृत एवं भारतीय संस्कृति’, 04 सितम्बर को ‘भारतीय संस्कृति एवं गो-सेवा’ विषयक सम्मेलन सम्पन्न होंगे। 05 सितम्बर को युगपुरुष महन्त दिग्विजयनाथ जी महाराज की तथा 06 सितम्बर को राष्ट्रसन्त महन्त अवेद्यनाथ जी महाराज की श्रद्धांजलि सभा आयोजित होगी। 30 अगस्त से 05 सितम्बर 2020 तक अपराह्न 3 बजे से सायं 6 बजे तक संगीतमय ’श्रीराम कथा ज्ञान-यज्ञ’ का अयोजन किया गया है। अयोध्या धाम से पधारे अनन्त श्रीविभूषित जगद्गुरु श्रीस्वामी राघवाचार्य जी महाराज के मुखार बिन्दु से श्रीराम कथा की अमृत वर्षा होगी। यह मांगलिक अनुष्ठान भी श्रीगोरक्षनाथ मन्दिर के फेसबुक पेज तथा यू-ट्यूब पर लाइव होगा। कोविड-19 के कारण इस वर्ष सम्पूर्ण आयोजन निर्धारित निर्देशो का अनुपालन करते हुए सम्पन्न किया जाएगा। सम्पूर्ण आयोजन श्री गोरखनाथ मन्दिर के फेसबुक पेज एवं यू-ट्यूब तथा सिटी चैनल पर लाइव होगा।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button