“दूल्हा बिकता है” का मुहूर्त माँ विंध्यवासिनी के धाम में करके शूटिंग शुरू

मुंबई : आकांक्षा आर्ट्स के बैनर तले निर्मित की जा रही समाज को जागरूक करने वाली भोजपुरी फ़िल्म “दूल्हा बिकता है” की मुहूर्त की पूजा तीर्थ पुरोहित आचार्य अगस्त्य द्विवेदी के कर कमलों द्वारा किया गया। उन्होंने फिल्म की टीम को मां विंध्यवासिनी का दर्शन करवा कर विंध्याचल धाम की परिक्रमा भी कराई। जिससे माँ के आशीर्वाद से पूरी टीम में एक नई ऊर्जा का संचार हुआ और इससे पूरी टीम को माँ विंध्यवासिनी का आशीर्वाद मिला। फिल्म के मुहूर्त से लेकर शूटिंग शुरू होने तक फिल्म की पूरी यूनिट में भक्ति भाव का संचार रहा।

उल्लेखनीय है कि दहेज प्रथा पर कुठाराघात करती हुई समाज को जागरूक करने वाली यह फिल्म “दूल्हा बिकता है” का भव्य पैमाने पर शुभारंभ किया गया। यह फिल्म हर वर्ग के दर्शकों को ध्यान में रखकर बनाई जा रही है। तीन भाइयों की मार्मिक रिश्ते पर आधारित संपूर्ण पारिवारिक फिल्म का निर्माण रंगमंच की सशक्त अभिनेत्री मधु अवस्थी कर रही हैं। फिल्म का निर्देशन कई सुपरहिट फिल्मों को निर्देशन कर चुके अलग जोनर की फिल्म मेकिंग करने वाले मिथिलेश अविनाश कर रहे हैं। फिल्म में केंद्रीय भूमिका में अक्षय यादव, सूर्या शर्मा और कौशिक द्विवेदी हैं।

बता दें कि बड़े भाई की भूमिका में थियेटर आर्टिस्ट व कई हिंदी व भोजपुरी फिल्मों अभिनय का जौहर दिखा चुके अक्षय यादव हैं। मझले भाई का किरदार कई भोजपुरी फिल्मों में बतौर हीरो धमाल मचाने वाले सूर्या शर्मा हैं। छोटे भाई की भूमिका में विंध्याचल धाम के तीर्थ पुरोहित आचार्य अगस्त्य द्विवेदी के छोटे भाई नवोदित अभिनेता कौशिक द्विवेदी निभा रहे हैं। वे रूपहले परदे पर बतौर हीरो धमाकेदार एंट्री कर रहे हैं। कौशिक के रूप में भोजपुरी फिल्म इंडस्ट्री को एक और नया सितारा मिलने जा रहा है।

फ़िल्म के लेखक अनुराग श्रीवास्तव हैं। संगीतकार अनुज तिवारी हैं। छायांकन विपिन प्रसाद, नृत्य ज्ञान सिंह, मारधाड़ दिनेश यादव, कला पवन का है। फ़िल्म के मुख्य कलाकार अक्षय यादव, परी सिंहानिया, सूर्या शर्मा, शालू सिंह, नवोदित कौशिक द्विवेदी, राजकपूर शाही, मधु अवस्थी, सुधाकर मिश्रा, रामेश कश्यप, सुनील बाजपेयी, पूनम राय, धीरज श्रीवास्तव आदि हैं।

ग़ौरतलब है कि फिल्म निर्मात्री व अभिनेत्री मधु अवस्थी का अपना थियेटर ग्रुप आकांक्षा आर्ट्स फाउंडेशन है, जिसके द्वारा नये कलाकारों को निःशुल्क प्रशिक्षण दिया जाता है। यह सेवा वे निरंतर कई वर्षों से करती आ रही हैं। अब वे फिल्मों में अभिनय करने के साथ ही साथ फ़िल्म निर्माण भी करती रहेगीं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button