गजनी की बर्बर सेना टूट पड़े बलिदानी,सुनिए वीर सुहेलदेव की गौरव भरी कहानी

लोंगों को रोमांचित कर गया वीरेंद्र वत्स का यह गीत

लखनऊ : गजनी की बर्बर सेना टूट पड़े बलिदानी,सुनिए वीर सुहेलदेव की गौरव भरी कहानी सुनिए वीर सुहेलदेव की  गौरवभरी कहानी। यही वह गीत है जिसे आज महाराज सुहेलदेव की जयंती पर लोगों ने खूब पसंद किया। इस गीत के जरिए महाराज सुहेलदेव के शौर्य एवं पराक्रम शब्द दिया है,गीतकर वीरेंद्र वत्स ने। मालूम हो कि वत्स के बेहतरीन गीत पर ही गणतंत्र दिवस परेड में यूपी की झांकी को सर्वाधिक नंबर मिले थे। गीत को आवाज दिया है बालीवुड के गायक दिव्य कुमार ने। संगीत राजेश सोनी का है।

यह गीत मंगलवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र महाराज सुहेलदेव की जयंती पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की वर्चुअल और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की मौजूदगी में आज मंगलवार को इस गीत पर संस्कृति विभाग के कलाकारों द्वारा की गई मनमोहक प्रस्तुति ने लोगों को रोमांचित कर गया। इसका सजीव प्रसारण यूूपी के सभी शहीद स्थलों पर हुआ। मालूम हो कि इससे पहले वीरेंद्र वत्स द्वारा योगी सरकार के ढाई एवं तीन साल का कार्यकाल पूरा होने, गंगा यात्रा, उत्तर प्रदेश दिवस एवं चौरीचौरा शताब्दी समारोह पर लिखे गीतों को भी लोगों ने खूब सराहा था।गया है। वत्स मूलरूप से सुल्तानपुर के हैं और लखनऊ में रहते हैं।

महाराजा सुहेलदेव पर लिखे गीत के पूरे बोल

महाराजा सुहेलदेव पर लिखा गया पूरा गीत इस प्रकार है।

श्रावस्ती की भूमि पर जन्मे दिव्य नरेश। भारत के रक्षक बने.बदल दिया परिवेश।
गजनी की बर्बर सेना टूट पड़े बलिदानी। सुनिए वीर सुहेलदेव की गौरव भरी कहानी
गजनी से बहराइच तक आ पहुंचे क्रूर लूटेरे। उनके लिए सुहलेदेव ने रचे मौत के घेरे।
सभी दरिंदे फंसे व्यूह में मांगे मिला न पानी। सुनिए वीर सुहेलदेव की गौरव भरी कहानी।
बढ़े कदम वीरों के धरती डगमग डोल रही थी। हैवानों का नाम मिटा दो जनता बोल रही थी।
कटे शीश तो लाल हो गई पुण्य धरा यह धानी। सुनिए वीर सुहेलदेव की गौरव भरी कहानी

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button