सामूहिक दुष्कर्म के आरोपी पांच अभियुक्त गिरफ्तार

गैंगस्टर व एनएसए की भी कार्रवाई होगी-डीआईजी

गोरखपुर : महिला अपराध के प्रति गंभीर दिखने वाले डीआईजी/ एसएसपी जोगेंद्र कुमार ने शाहपुर क्षेत्र में लड़की का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद एसएसपी ने कड़ी कार्रवाई करते हुए चौकी इंचार्ज व सिपाही के खिलाफ कार्रवाई की थी तो वही लड़की का नाम व पहचान उजागर करने के आरोप में दो लोगों पर भी कार्रवाई की थी । एसएसपी जोगेंद्र कुमार को घटना की जानकारी तत्काल मौके पर पहुंचे और घटना में शामिल आरोपियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने के लिए टीम गठित की नाबालिग लड़की के साथ दुष्कर्म के आरोप में शामिल पांच आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है इनके पास से घटना में प्रयुक्त एक मोटरसाइकिल व अन्य सामान को भी पुलिस ने बरामद किया है। घटना का खुलासा व्हाइट हाउस में आयोजित पत्रकार वार्ता के दौरान डीआईजी/ एसएसपी जोगेंद्र कुमार ने दी।

उन्होंने बताया कि 2 मार्च को पीड़िता शाम के समय अपनी मां से मिलने जा रही थी कि रास्ते में उसे राजू नामक व्यक्ति मिला जिसको वह पहले से जानती थी उसकी सहमति से पीड़िता घूमने के लिए गई राजू से बाइक पर लेकर गया रास्ते में बीयर की दुकान से बीयर खरीदी और पीड़िता को लेकर अपने मित्र विशाल के पास गया विशाल ने उसे जगह की मांग की। विशाल ने रेलवे कालोनी बिछिया में एक बिल्डिंग की छत पर दोनों को जगह दिखाइए जहां पर रवि ने पीड़िता से शारीरिक संबंध बनाए क्योंकि पीड़िता नाबालिक है इसलिए दुष्कर्म का अपराध है और विशाल भी इस अपराध में सहयोग करने का दोषी है उसके बाद रवि उर्फ राजू ने पीड़िता को बौलियां कॉलोनी पानी टंकी के पास छोड़ दिया वहां थोड़ी दूर पर पीड़िता को तीन व्यक्ति मिले जो उसे लेकर रेलवे कॉलोनी बौलिया के खाली पड़े खंडहर रूपी घर में ले गया और वहां उसके साथ दुष्कर्म किया।

पीड़िता उसके बाद वहां से निकल कर सड़क पर जा रही थी कि रास्ते में उसे चर्चिल अधिकारी और आफताब आलम नामक व्यक्ति मिले। उसे लेकर हड़हवा फाटक चौकी पर गए वहां पीड़िता की वीडियो रिकॉर्डिंग आफताब ने बनाई जिसमें पीड़िता अपने साथ रेप होने की बात कर रही है इस प्रकार नाबालिग पीड़िता का वीडियो वायरल कर उसकी पहचान उजागर किया गया ।  उस समय चौकी पर निगरानी ड्यूटी में कांस्टेबल मौजूद थे उसने सूचना चौकी प्रभारी हड़हवा फाटक को दी मौके पर पहुंचे और लोगों ने पीड़िता से बात की। वह थोड़ा नशे की हालत में भी थी ,किंतु चौकी प्रभारी ने पीड़िता को उसके घर पहुंचा दिया और घटनाक्रम के बारे में कोई सूचना उच्च अधिकारियों या थाने पर नहीं दिया जो कि घोर लापरवाही है ।

प्रकरण के संज्ञान में आने के उपरांत नाबालिग पीड़िता व उसके परिवार से जिला प्रोबेशन अधिकारी और उनके नियुक्त महिला बाल कल्याण अधिकारी श्रीमती सुमन शुक्ला वन स्टॉप सेंटर अध्यक्षता श्रीमती पूजा पांडेय ने सादे वस्त्रों में इंस्पेक्टर महिला थाना आदि से वार्ता की और पीड़िता की मां की तहरीर पर आरोपियों के खिलाफ धारा 342, 376d एवं पास्को एक्ट में मुकदमा पंजीकृत किया गया साथ ही पुलिस की लापरवाही और वीडियो बनाने वाले के खिलाफ भी मुकदमा पंजीकृत कर कार्रवाई की जा रही है रवि ने घटना को स्वीकार किया और बताया कि घटना के समय प्रयुक्त कपड़े से बरामद करके उसे सील किया गया फील्ड यूनिट की सहायता से घटनास्थल पर मौजूद सामग्री खाली बियर की केन अन्य प्रयुक्त सामग्री आदि बरामद किया गया और मौके पर सील कर दिया गया । घटनास्थल बौलिया रेलवे कालोनी खंडहर मकान घटनास्थल का निरीक्षण कर मौके पर सील किया गया है ।

घटना में शामिल अभियुक्त रवि बसफोड, कमल कुमार ,अरुण कुमार, विजय कुमार, विशाल कुमार सिंह को गिरफ्तार किया गया है। राजू के सहयोगी विशाल पर धारा 120 बी 34 सहपाठी धारा 342 376d 363 का अपराध होना पाया गया। साथी राजू द्वारा घटना में प्रयोग की गई मोटरसाइकिल को भी बरामद किया गया सभी अभियुक्तों के घटना के समय की कपड़े बरामद किए गए । जोगेंद्र कुमार ने कहा कि महिला के प्रति अपराध करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी घटना में शामिल अभियुक्तों पर गैंगस्टर व एनएसए की भी कार्रवाई की जाएगी । अभियुक्तों की विधिक कार्रवाई हेतु न्यायालय भेजा जा रहा है। गिरफ्तार करने वाली टीम में शाहपुर थाना प्रभारी संतोष कुमार सिंह,उप निरीक्षक रमेश चंद्र उपाध्याय, उपनिरीक्षक लाल जी, कांस्टेबल राजकुमार,कांस्टेबल सोनू प्रसाद, कांस्टेबल संजीव कुमार सिंह, कांस्टेबल सुनील कुमार यादव, महिला कांस्टेबल सोनम यादव,महिला कांस्टेबल प्रीति यादव शामिल रही।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button