महोत्सव में लीजिए सेहतमंद सुनहरी शकरकंद के लजीज व्यंजनों का लुत्फ

गोरखपुर के रैडिसन होटल में फरवरी के दूसरे सप्ताह में होगा सुनहरी महोत्सव, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ करेंगे उद्घाटन, सुनहरी की उपज,बिक्री और बाजार बढ़ाने पर विशेषज्ञ करेंगे मंथन, सुनहरी के जरिये गोरखपुर का फ्लेवर पूरी दुनिया मे पहुंचाने की मंशा: जिलाधिकारी

गोरखपुर। सेहत के लिए फिक्रमंद हैं और जायके के शौकीन तो यह खास महोत्सव आप के लिए ही है। एक जिला एक उत्पाद की तर्ज पर एक जिला एक विशिष्ट खाद्य पदार्थ की योजना की तरफ बढ़ रही योगी सरकार के इस अभिनव पहल के आप मुरीद हो जाएंगे। विटामिन ए और अन्य पोषक तत्वों से भरपूर और स्वाद में बेजोड़ सुनहरी शकरकंद को लेकर गोरखपुर में फरवरी के दूसरे सप्ताह में सुनहरी महोत्सव होने जा रहा है। इस दौरान सुनहरी शकरकंद के उत्पादन, विपणन और उपभोग बढ़ाने की चर्चा तो होगी ही, सुनहरी के 20 से अधिक लजीज व्यंजनों का भी स्वाद लिया जा सकेगा। आयोजन स्थल होगा रैडिसन होटल। इस महोत्सव का उद्घाटन मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ खुद करेंगे।
सुनहरी महोत्सव की तैयारियों के सिलसिले में गुरुवार को एक बैठक कलेक्ट्रेट सभागार में जिलाधिकारी के विजयेंद्र पांडियन की अध्यक्षता में हुई। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की मंशा है कि सुनहरी शकरकंद के जरिये गोरखपुर का फ्लेवर पूरी दुनिया में पहुंचे। महोत्सव का आयोजन इसी ध्येय से किया जा रहा है। पोषण के खजाने सुनहरी शकरकंद को आंगनबाड़ी के हॉट कुक्ड योजना और परिषदीय स्कूलों के मिड डे मील योजना में भी शामिल करने का प्रस्ताव शासन को गोरखपुर से भेजा जाएगा। जिलाधिकारी ने होटल रैडिसन के प्रतिनिधियों से कहा कि वह तैयारी कर लें कि सुनहरी के व्यंजनों को स्टार्टर, मेन कोर्स और डेजर्ट के रूप में कैसे परोसा जा सकता है। महोत्सव में उस शकरकंद के डिशेज और अन्य उपयोग पर भी चर्चा की जाएगी। मुख्य विकास अधिकारी इंद्रजीत सिंह ने कहा कि इस बात की पड़ताल कराई जाएगी कि सुनहरी शकरकंद की खेती का क्षेत्रफल जिले में किस प्रकार बढ़ाया जा सकता है। इसका उत्पादन बढ़ेगा तो कुपोषण की समस्या तो दूर होगी ही, किसानों की आय में भी इजाफा होगा। बैठक में उप निदेशक उद्यान डीके वर्मा ने बताया कि स्वयं सहायता समूहों के माध्यम से पोषण वाटिकाओं में सुनहरी शकरकंद की खेती को बढ़ावा दिया जाएगा। बैठक में बेसिक शिक्षा, आंगनबाड़ी, आजीविका मिशन आदि विभागों के अधिकारी भी उपस्थित रहे।

रेस्तरां में बनेंगे सुनहरी शकरकंद के व्यंजन
सुनहरी शकरकंद के व्यंजन अब गोरखपुर के रेस्तरांओं में भी बनेंगे। इसकी शुरुआत सुनहरी महोत्सव के दौरान होटल रैडिसन से होने जा रही है। इस होटल के शेफ 20 से अधिक डिशेज परोसेंगे। फिलहाल गोरखपुर में कृषि वैज्ञानिक रामचेत चौधरी की टीम ने चिप्स, जूस, हलवा, सुनहरी की पत्तियों के पकोड़े आदि 20 डिश तैयार किए हैं।

विटामिन ए का खजानाहै सुनहरी
बैठक में मौजूद कृषि वैज्ञानिक रामचेत चौधरी ने सुनहरी शकरकंद के गुणों के बारे में विस्तार से जानकारी दी। सुनहरी की खेती के लिए अफ्रीकी देशों में प्रोजेक्ट वर्क कर चुके श्री चौधरी ने बताया कि यह तेजी से उत्पादित होने वाली फसल है और इसमें विटामिन ए बीटा कैरोटीन के रूप में प्रचुरता से मौजूद है। इसके पोषक गुणों के चलते ही बीते तीन साल से वर्ल्ड फूड प्राइज इसी के क्षेत्र में किए जा रहे कार्यों को मिल रहा है।

पीएम मोदी कर चुके हैं सुनहरी की खेती करने वाले वनटांगिया किसान की तारीफ
गोरखपुर के बगल में स्थित महराजगंज जिले के वनटांगिया किसान रामगुलाब की तारीफ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मन की बात कार्यक्रम में कर चुके हैं। रामगुलाब एफपीओ बनाकर सुनहरी की खेती कर रहे हैं और उनके उत्पाद की अब मुंबई और गुजरात मे होगी। इसके लिए उन्होंने गुजरात की एक कम्पनी से करार किया है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button