पहले वोट बैंक का बही खाता समझा जाता था किसान :पीएम

अब किसानों के प्रति सोच और अप्रोच दोनों बदल चुका है: मोदी .कोरोना काल की चुनौतियों के समाधान को नई तेजी देगा इस बार का बजट .चौरीचौरा शताब्दी समारोह के शुभारंभ पर बोले प्रधानमंत्री .

गोरखपुर । प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चौरी-चौरा जनाक्रोश के दौर में किसानों की महत्वपूर्ण भूमिका का उल्लेख करते हुए कहा कि उनकी सरकार के पहले किसानों को वोट बैंक का बही खाता समझा जाता था। बजट में उनके लिए कुछ लोंगो के नाम पर आधारित ऐसी घोषणाएं की जाती थीं, जो कभी पूरी ही नहीं होती थीं। सोच बदल गई तो अप्रोच बदल गई। कोरोना काल की चुनौतियों के बीच इस बार हमने ऐसा बजट दिया है जो इन चुनौतियों के समाधान को नई तेजी देगा। प्रधानमंत्री गुरुवार को आजादी के आंदोलन को निर्णायक दिशा देने वाले चौरी-चौरा जनाक्रोश शताब्दी समारोह के शुभारंभ के अवसर पर लोगों को संबोधित कर रहे थे।

समारोह में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से जुड़े पीएम मोदी ने कहा कि चौरी-चौरा आंदोलन में किसानों की बड़ी भूमिका रही है। आज भी हमारी प्रगति का आधार किसान ही हैं। किसानों के हित के लिए छह सालों में लगातार प्रयास किए गए हैं। चुनौतियों के बीच कृषि क्षेत्र निरन्तर आगे बढ़ रहा है। इस साल कोरोना काल मे भी किसानों ने रिकॉर्ड उत्पादन किया है, यह प्रगति और तेज होगी। पीएम मोदी ने कहा कि इस बार बजट में ग्रामीण क्षेत्र में इंफ्रास्ट्रक्चर फण्ड बढ़ाकर 40 हजार करोड़ रुपये कर दिया गया है। 1000 नई और आधुनिक मंडियों की व्यवस्था की जा रही है। इसका फायदा किसानों को मिलेगा। वह आत्मनिर्भर बनेंगे। खेती फायदे का सौदा होगी। उन्होंने प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना का जिक्र करते हुए कहा कि यह भी गांव और किसान के विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगी। गांव में लोगों के पास अपनी जमीन और मकान के कागज होंगे तो कोई बुरी दृष्टि नहीं डाल पाएगा, कर्ज भी आसानी से मिल जाएगा।

देश का विकास ही स्वन्त्रता संग्राम सेनानियों को सच्ची श्रद्धांजलि

प्रधानमंत्री ने कहा, स्थानीयता से आत्मनिर्भरता व इसके जरिये समग्र विकास, देश की आजादी में अपने प्राणों की आहुति देने वाले अमर सेनानियों के प्रति सच्ची श्रद्धांजलि होगी। चौरी-चौरा शताब्दी समारोह के माध्यम से यह वर्ष हमारे लिए संकल्प का वर्ष होगा, अधूरे सपनों को पूरा करने का वर्ष होगा। अमर बलिदानियों की शहादत इस संकल्प को पूरा करने में हमारे लिए प्रेरणा बनेगी।

समूह से ही होता है बदलाव

उन्होंने देश की एकता और सम्मान को सर्वोपरि बताते हुए कहा बदलाव में सामूहिक भागीदारी की आवश्यकता जताई। कहा कि, सामूहिकता की जिस शक्ति ने गुलामी की बेड़ियों को तोड़ा था वही भारत को दुनिया की बड़ी ताकत बनाएगी।

चौरीचौरा शताब्दी समारोह के लिए सीएम योगी की मुक्तकंठ से सराहना की पीएम ने

चौरीचौरा शताब्दी समारोह का आयोजन करने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की मुक्तकंठ से सराहना की। उन्होंने कहा कि याद करिए कि क्रांतिकारियों की इस धरती की पहले क्या तस्वीर थी। आज योगी जी ने समारोह का आयोजन कर प्रशंसनीय कार्य किया है।

महज एक थाने में आगजनी की घटना नहीं थी चौरी-चौरा

चौरीचौरा की पवित्र भूमि पर आजादी के आंदोलन को नई दिशा देने वाले वीर शहीदों के चरणों में प्रणाम करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि 100 साल पहले चौरीचौरा में जो हुआ वह एक थाने में महज आगजनी की घटना नहीं थी। इसका संदेश बहुत बड़ा और बहुत व्यापक था। अनेक वजहों से इसे मामूली आगजनी की घटना के संदर्भ में देखा गया जबकि परिस्थितियां व वजहें भी उतनी ही महत्वपूर्ण हैं। चौरीचौरा में आग सिर्फ थाने में नहीं लगी थी, वह आजादी के लिए जन जन के मन मे प्रज्वलित हो चुकी थी।

उन्होंने कहा कि आजादी के 75वें वर्ष में प्रवेश करते वक्त चौरीचौरा शताब्दी समारोह और प्रासंगिक है। पीएम ने कहा कि चौरीचौरा का जनाक्रोश स्वतः स्फूर्त संग्राम थ। दुर्भाग्य से इसकी बहुत चर्चा नहीं हो पाई। इतिहास में भले नहीं हो लेकिन जिन्होंने देश की माटी में अपना खून मिला दिया, उनका बलिदान हमेशा प्रेरणा देता रहेगा। इतिहास में ऐसी घटनाएं कम ही मिलती हैं जब एक ही मामले में 19 लोगों को फांसी के फंदे पर लटका दिया हो। आज का अवसर बाबा राघव दास और महामना पंडित मदन मोहन मालवीय को भी याद करने का अवसर है जिन्होंने अपने प्रयासों से करीब 150 लोगों को फांसी से बचा लिया।

प्रधानमंत्री ने कहा कि योगी सरकार इस आयोजन के जरिये पूरे साल शहीदों की याद में कार्यक्रम करने जा रही है। अभियान में छात्रों और युवाओं को विभिन्न प्रतियोगिताओं के माध्यम से जोड़ा जा रहा है। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार भी युवा लेखकों को अमर सेनानियों पर किताब लिखने, शोध करने को प्रोत्साहित कर रही है। यहां के युवा भी चौरीचौरा के शहीदों पर शोध व लेख सामने ला सकते हैं। उन्होंने शहीदों को नमन करते हुए कहा कि वे देश के लिए शहीद हुए, उनके कारण हम स्वतंत्र हुए। वे देश के लिए मर सके, हम देश के लिए जीने का संकल्प लें। उन्हें सौभाग्य मिला देश के लिए मरने का, हमें सौभाग्य मिला है देश के लिए जीने का।

बदलाव और विकास की पेश की तस्वीर

अपने वर्चुअल संबोधन में पीएम मोदी ने गोरखपुर समेत उत्तर प्रदेश में योगी सरकार में बदलाव व विकास की तस्वीर भी पेश की। उन्होंने कहा कि यहां कारखाने बन्द थे, सड़कें खस्ताहाल थीं, अस्पताल खुद बीमार थे। आज खाद कारखाना है, एम्स और मेडिकल कॉलेज लोगों को संजीवनी देने को हैं। हर जिले में मेडिकल कॉलेज खोले जा रहे हैं। जीवन निगलने वाली बीमारी इंसेफेलाइटिस पर नियंत्रण करने वाले योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व की प्रशंसा आज दुनिया कर रही है। पहले 50 किमी की दूरी तय करने को लोगों को तीन चार घण्टे पहले घर से निकलना पड़ता था अब सड़को का जाल बिछ गया है। गोरखपुर से 8 बड़े शहरों के लिए फ्लाइट सेवा है, कुशीनगर में अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट शुरू होने जा रहा है।

दुनियाभर को भारत से वैक्सीन मिलता देख सेनानियों की आत्मा गर्व कर रही होगी

प्रधानमंत्री ने कहा कि इस कोरोना काल में हमनें 150 देशों के नागरिकों की मदद के लिए दवा भेजी। अपने 50 लाख से अधिक नागरिकों को स्वदेश बुलवाया। आज भारत न केवल तेजी से वैक्सीन बना रहा और तीव्र गति से टीकाकरण अभियान चला रहा बल्कि दुनियाभर को वैक्सीन दे रहा है। इससे सेनानियों की आत्मा गर्व की अनुभूति कर रही होगी।

भोजपुरी संबोधन से दिल जीत लिया पीएम मोदी ने

अपने संबोधन की शुरूआत भोजपुरी बोली में कर पीएम मोदी ने लोगों का दिल जीत लिया। पीएम ने कहा, “भगवान शिववतारी गोरखनाथ की धरती के परनाम करत बाटी। देवरहा बाबा के आशीर्वाद से ई जिला खूब आगे बढ़त बा। चौरीचौरा के महान लोगन के स्वागत करत बाटी। आप सबन के नमन करत बाटी।”

चौरीचौरा के शहीदों की याद में पीएम ने जारी किया डाक टिकट

चौरीचौरा शताब्दी समारोह के शुभारंभ अवसर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चौरीचौरा के शहीदों की याद में वर्चुअल माध्यम से विशेष स्मारक टिकट जारी किया।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button